आशुतोष विश्वकर्मा (वेबसाइट/पोर्टल के स्वामी, संचालक) मो.नं. 8839215630, ई-मेल : branding.executive03234@gmail.com
छोटू यादव (संपादक) मो.नं. 8103624121, ई-मेल : contact@centralnews-india.com

संपादकीय कार्यालय का पता : सेंट्रल न्यूज़ इंडिया - देवांगन बड़ी, सत्यम विहार कॉलोनी, रायपुरा, रायपुर, छत्तीसगढ़, पिन कोड 492013

न्यूज़ वेबपोर्टल पंजीयन क्रमांक : CG14D0018162

 

Breaking

अपनी भाषा चुने

POPUP ADD

सी एन आई न्यूज़

सी एन आई न्यूज़ रिपोर्टर/ जिला ब्यूरो/ संवाददाता नियुक्ति कर रहा है - छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेशओडिशा, झारखण्ड, बिहार, महाराष्ट्राबंगाल, पंजाब, गुजरात, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटका, हिमाचल प्रदेश, वेस्ट बंगाल, एन सी आर दिल्ली, कोलकत्ता, राजस्थान, केरला, तमिलनाडु - इन राज्यों में - क्या आप सी एन आई न्यूज़ के साथ जुड़के कार्य करना चाहते होसी एन आई न्यूज़ (सेंट्रल न्यूज़ इंडिया) से जुड़ने के लिए हमसे संपर्क करे : हितेश मानिकपुरी - मो. नं. : 9516754504 ◘ मोहम्मद अज़हर हनफ़ी - मो. नं. : 7869203309 ◘ शक्तिधर दीवान - मो. नं. : 9753021021 ◘ आशुतोष विश्वकर्मा - मो. नं. : 8839215630 ◘ सोना दीवान - मो. नं. : 9827138395 ◘ शिकायत के लिए क्लिक करें - Click here ◘ फेसबुक  : cninews ◘ रजिस्ट्रेशन नं. : • Reg. No.: EN-ANMA/CG391732EC • Reg. No.: CG14D0018162 

Wednesday, October 13, 2021

बड़गांव मे भवानी मंदिर के प्रति भक्तों की विशेष आस्था है।भक्तों की मन्नतें पूरी होने पर नवरात्रि में ज्योति कलश प्रज्ज्वलित किया जाता हैं।

 बड़गांव मे भवानी मंदिर के प्रति भक्तों की विशेष आस्था है।भक्तों की मन्नतें पूरी होने पर नवरात्रि में ज्योति कलश प्रज्ज्वलित किया जाता हैं। 


डौंडीलोहारा :-अनेक विशेषताओं से भरा बड़गांव बालोद जिला के डौंडीलोहारा ब्लाक के अंतर्गत 1 ग्राम बड़गांव है यहां भवानी मंदिर के प्रति भक्तों की विशेष आस्था है इस मंदिर के इतिहास से जुड़ी अनेक तथ्यों के कारण प्रसिद्ध दूर दूर तक बढ़ती जा रही है भक्तों की मन्नतें पूरी होने पर वे नवरात्रि में ज्योति कलश प्रज्ज्वलित करते हैं


          प्रचलित कथा

बात उन दिनों की है जब भारत में जमींदारी प्रथा लागू थी कांकेर के राजा के रियासत में डौंडीलोहारा क्षेत्र आता था उस समय लाल जयपाल सिंह ने पिता यहां के जमीदार थे तब आज से 200 वर्ष पूर्व जेठू मल तेली के परिवार में एक जननी माता कुमारी गुरुर जनपद के ग्राम कनेरी से बड़गांव डौंडीलोहारा आई थी वह तालाब के पास एक कुआं से नित्य पानी निकालती थी वह जब भी उस कुएं से पानी निकालती तब निकालते गए पानी से नियमित रूप से सुपारी बेलपत्र और फूल इत्यादि निकलते थे लेकिन यदि कोई दूसरा उसी कुएं से पानी निकालते थे तो केवल शुद्ध पानी भर निकलता था ऐसे ही काफी दिनों तक चलता रहा फिर 1 दिन कुएं में माता ने जल समाधि ले ली कुछ समय बाद में की साफ पानी की गई तो उसमें से अद्भुत  रूप से एक टोकरी और अन्य कुंवारी  जैसी वस्तु निकली जिसे पूर्व जनों द्वारा तलाक के पेड़ में गठरी बांध कर विधि-विधान से लगे नीम वृक्ष के नीचे चबूतरा बनाकर स्थापित किया गया

             एक घटना

कुछ दिनों बाद जेठू मल तेली वंशज के दो व्यक्ति जो राजनांदगांव राज मैं निवास करते थे वह खड़े नाडी आकर तालाब के पास में स्थापित अन्य को गुप्त रूप से गठरी में बांध कर ले जा रहे थे अचानक उन्होंने संबलपुर नाला के पास उस गठरी को खोल कर देखा तो वहां से अन्न गायब होकर पुनः अपने स्थान में स्वयं आ गई थी इस घटना का लोगों को जब पता चला जो लोग की आस्था इस स्थल के प्रति बढ़ती चली गई इसके बाद इस स्थल पर दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर और शक्तिपीठ कुमारी भवानी मंदिर का निर्माण किया गया इसके कुछ समय बाद एक भक्त ने अपने आस्था प्रकट करते हुए खड़े ना में ही कुंवारी माता की संगमरमर की मूर्ति बनाकर स्थापित किया

  

              मन्नते होती है पूरी

लोगों का मानना है कि यहां आने वाले भक्तों की मनोकामना पूरी होती है निसंतान दंपत्ति अक्सर यहां आते रहते हैं अनेक कष्टों के निवारण के लिए भक्तों का आना जाना यहां लगा रहता है मनोकामना पूरी होने पर नवरात्रि के अवसर पर भक्तों द्वारा ज्योति भी प्रचलित की जाती है यह कारण मंदिर की प्रसिद्धि लगातार बढ़ती जा रही है

गांव की कहानी में मुख्य रूप से भूमिका रहा श्रीमान पुणे धर साहू ग्राम बड़गांव विकासखंड डौंडीलोहारा। 


सी एन आई न्यूज़ के लिए डौंडीलोहारा  से इस्लाम खान की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Hz Add

Post Top Ad