Central NEWS India

Breaking

अपनी भाषा चुने

सी एन आई न्यूज़ रिपोर्टर/ जिला ब्यूरो/ संवाददाता नियुक्ति कर रहा है - छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेशओडिशा, झारखण्ड, बिहार, महाराष्ट्राबंगाल, पंजाब, गुजरात, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटका, हिमाचल प्रदेश, वेस्ट बंगाल, एन सी आर दिल्ली, कोलकत्ता, राजस्थान, केरला, तमिलनाडु - इन राज्यों में - क्या आप सी एन आई न्यूज़ के साथ जुड़के कार्य करना चाहते होसी एन आई न्यूज़ (सेंट्रल न्यूज़ इंडिया) से जुड़ने के लिए हमसे संपर्क करे : हितेश मानिकपुरी - मो. नं. : 9516754504 ◘ मोहम्मद अज़हर हनफ़ी - मो. नं. : 7869203309 ◘ शक्तिधर दीवान - मो. नं. : 9753021021 ◘ आशुतोष विश्वकर्मा - मो. नं. : 8839215630 ◘ सोना दीवान - मो. नं. : 9827138395 ◘ शिकायत के लिए क्लिक करें - Click here ◘ फेसबुक  : cninews ◘ रजिस्ट्रेशन नं. : • Reg. No.: EN-ANMA/CG391732EC • Reg. No.: CG14D0018162 

सूचना - समाचार से सम्बंधित किसी भी तरह के लिए साइट के कुछ तत्वों में उपयोगकर्ताओं के द्वारा प्रस्तुत सामग्री (समाचार/ फोटो/वीडियो आदि) शामिल होगी. सीएन आई न्यूज़ इस तरह के सामग्रियों के लिए कोई जिम्मेदार स्वीकार नहीं करता है. सीएन आई न्यूज़ में प्रकाशित ऐसी सामग्री के लिए संवादाता/खबर देने वाला स्वयं जम्मेदार होगा, सीएन आई न्यूज या उसके स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक, की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी. सभी विवादो का न्यायक्षेत्र रायपुर होगा.

Friday, August 21, 2020

रायपुर जनता की गाढ़ी कमाई पर बजाज फाइनेंस का डाका जनता हो जाओ सावधान


रायपुर : बजाज फाइनेंस के द्वारा जनता को गुमराह कर रहा है किस्त पूरा होने के बावजूद अकाउंट से फाइनेंस से अधिक  रुपए उड़ा रहा है। कई फाइनेंस करवाने वाले  लोगों का किस्त  पूरा होने के बाद भी एनओसी  नहीं दिया जा रहा है  और उनके अकाउंट से किस्त पूरा होने के बाद भी रकम काट लिया जा रहा है  इन सब  शिकायत को लेकर लोग बजाज फाइनेंस के दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं पर उनकी सुनवाई नहीं होने के कारण से लोगो को  काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है एनओसी  के लिए भी लोगो को बार बार आफिस के चक्कर लगाना पड़ रहा है  और उन्हें लेने   तीन चार महीने से लगातार घुमाया जा रहा है ।

कई  लोगों कि किस्त की रकम पूरा होने के बाद भी उनके अकाउंट से रुपए काट लिया जाता है कटे हुए रुपए के बारे में बजाज फाइनेंस के ऑफिस में पूछताछ करने पर सीधे तरीके से बात नहीं किया जाता है और कटे हुए रुपए के बारे में बताया भी नहीं जाता और चुप्पी साध लेते हैं। बजाज के द्वारा दिए गए कई टोल फ्री नंबर में भी संपर्क नहीं हो पाता अपनी समस्या को लेकर कई प्रार्थी बजाज फाइनेंस के ऑफिस पर चक्कर लगाते रहते हैं और उन्हें केवल मिलती है तो तारीख पे तारीख पर समस्या का निदान नहीं होता और कटी हुई रकम वापस भी नहीं होती जिससे काफी प्रार्थी मानसिक रूप से कष्ट सहन करते रहते हैं।

जब हमें इन सब समस्याओं के बारे  पता लगा  तो हमारी टीम ने  बजाज फाइनेंस के मैनेजर से संपर्क करना चाहा  मैनेजर से संपर्क नहीं हो सका  पर ऑफिस के ही एक शख्स ने मैं हूं मैनेजर कह कर बाहर निकला और जो करना हो कर लो इससे बजाज फाइनेंस डरने वाला नहीं है कह कर हमारे रिपोर्टर से बदसलूकी की गई पर इन सभी  प्रार्थीयो की समस्याओं के बारे में हमें बताया नहीं गया और हमें ऑफिस के कंपाउंड से बाहर जाने को कहा गया इससे यह पता चलता है

कि बजाज फाइनेंस के द्वारा आम जनता को कितना लूटने का काम कर रहें है एक अंदाजा लगाइए यदि बजाज फाइनेंस के लाखों कस्टमर है जिन्होंने ने कई  प्रकार समानों कि फाइनेंस कराई होगी इनमें हजारों कस्टमर के अकाउंट से पैसे काट लिया जाता है तो बजाज फाइनेंस के द्वारा आम लोगों की लाखों रुपए की गाढ़ी कमाई पर डाकां डाल  कर  सारी रकम डकार रहा है।

सरकार को इन फाइनेंस कंपनियों पर कार्यवाही करनी चाहिए ताकि बजाज जैसी फाइनेंस कंपनी आम जनता को लूटना छोड़ दे।

सी एन आई न्यूज़ से संदीप शर्मा की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Hz Add

MCGA

Aarogya Setu

Post Top Ad